उदयपुर हिंदू हत्या मोहम्मद रियाज 10 भाई हैं यही सबसे छोटा है।तालिबानी हत्याकांड कहने पर कांग्रेस प्रवक्ता भड़क गई जिस हिम्मत के साथ ऐसी वारदात को अंजाम दिया जा रहा है वह देश के लिए घातक है।

राजस्थान के उदयपुर शहर के धानमंडी थाना क्षेत्र में एक हिंदू युवक की दिनदहाड़े गला रेतकर हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि उस युवक का एक आठ साल के बच्चे ने सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट कर दिया था। राजस्थान पुलिस ने दो युवकों को इस पूरे मामले में गिरफ्तार करने का दावा कर रही है। जिसका नाम मोहम्मद रियाज और गोस मोहम्मद बताया गया जैसा जारी वीडियो में भी हैं। इन्हें राजसमंद के भीम इलाके से अरेस्ट किया गया है।ऐसा लग रहा है कि भारत में इस तरह के मुद्दों पर चर्चा और इसका प्रचार करने वाला एक विशेष बाजार है जो विशेष लोगों को टारगेट करता है और फिर उसका वीडियो भी बनाता है। ऐसा करने वाले इतना जरूर अभी तक बता चुके हैं कि उनके अंदर देश के कानून या प्रशासन का कोई डर नहीं है ।उदयपुर में एक हिंदू की दिनदहाड़े निर्मम हत्या के मामले में तालिबानी शब्द का इस्तेमाल करने पर कांग्रेस प्रवक्ता भड़क गए। उदयपुर घटना को लेकर चल रही एक टीवी डिबेट में एंकर चित्रा त्रिपाठी और कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा के बीच जोरदार बहस शुरू हो गई और वो इतनी बढ़ गई कि दोनों एक-दूसरे पर बरसते रहे और चुप नहीं हुए।दरअसल आलोक शर्मा बीजेपी नेताओं द्वारा तालिबानी शब्द का इस्तेमाल करने पर एतराज जता रहे थे तभी उन्होंने एंकर का भी जिक्र कर दिया। इसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हो गई।आलोक शर्मा ने कहा बीजेपी के नेताओं को मैं सुन रहा था वो कह रहे हैं कि शांति की अपील नहीं करनी चाहिए। वो तालिबानी शब्द का भी इस्तेमाल कर रहे हैं और आज तक की एंकर भी कर रही थीं। इस पर एंकर चित्रा त्रिपाठी भड़क गईं और कहा कि आप बताएंगे कि एंकरिंग कैसे करनी चाहिए। एंकर ने कहा तालिबानी शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए? क्या आपको शर्म नहीं आती कि एक तीन बच्चों के पिता की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई और आप यहां एंकर को बता रहे हैं कि उसके मुंह और जुबान में किस तरह के शब्द होने चाहिए। कम से कम आज आलोक जी आपसे संवेदनशीलता की उम्मीद करती हूं।NIA ने दर्ज किया केस एंकर ने आगे कहा आज आप यहां पर पाठ मत पढाईए। एंकर की जुबान मत बदलिए आप। आप बताएंगे मुझे एंकरिंग कैसे करनी है।आलोक शर्मा इस दौरान तालिबानी शब्द का इस्तेमाल करने को लेकर आपत्ति जताते रहे। वहीं एंकर पर भड़कती रहीं। एंकर आप बीजेपी की भाषा बोल रही हैं। इतना ही नहीं प्रवक्ता ने यह भी आरोप लगाया कि डिबेट के दौरान आधे घंटे से एंकर आग में घी डालने का काम कर रही हैं।आरिफ मोहम्मद खान (ArifMohammed Khan) ने भी बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मदरसों में ऐसी चीजें सिखाई जाती हैं कि इस तरह के लोग तैयार हो जाएं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी मांग की कि वहां क्या पढ़ाया जाता है उसकी जांच की जानी चाहिए। उन्होंने कहा मदरसों में बच्चों को यह पढ़ाया भी जाता है कि ईशनिंदा की सजा सिर तन से जुदा करना है। इसे खुदा के कानून के तौर पर पढ़ाया जाता है। उन्होंने कहा कि चिंता होती है जब लक्षण सामने आते हैं लेकिन गहरी बीमारी को समझने से ही इनकार कर देते हैं। राज्यपाल ने कहा सवाल यह है कि क्या हमारे बच्चों को ईश-निंदा करने वालों का सर कलम करना पढ़ाया जा रहा है? मुस्लिम कानून कुरान से नहीं आया है वह किसी इंसान ने लिखा है जिसमें सर कलम करने का कानून है और यह कानून बच्चों को मदरसों में पढ़ाया जा रहा है। बता दें कि टेलर कन्हैया लाल का बुधवार 29 जून को उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। बड़ी संख्या में लोग उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए। गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी कर बीजेपी से निष्कासित हुईं नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने की वजह से उदयपुर में मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद नाम के दो आरोपियों ने कन्हैया लाल की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी उदयपुर की घटना को उन्होंने इस पूरी घटना का वीडियो बनाया और खुद अपना जुर्म कबूलने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इस घटना के बाद देशभर में लोग काफी आक्रोशित हैं और गुनहगारों को सख्त सजा की मांग कर रहे हैं। वहीं कन्हैया लाल के परिवारवालों ने दोषियों को फांसी की सजा की मांग की है।
IMG 20220630 140143 -
उदयपुर आरोपी रियाज भीलवाड़ा के रियाज के भाई अब्दुल अय्यूब लोहार ने बताया कि रियाज मैं परिवार में दूसरे नंबर पर हूं। मेरे आपा की मौत के बाद वह 2001 में उदयपुर चला गया था और वहीं रहने लग गया था। उसकी शादी भी उदयपुर में हुई। वह क्या काम करता है मुझे मालूम नहीं। 20 -22 साल से हमारा कोई सम्पर्क नहीं है। मुझे रात को ही पता चला उसने बड़ा कांड कर दिया। उसने गलत काम किया है। जो गलत काम करेगा उसे कानून सजा देगा। धर्म के नाम इस तरह से करना गलत है। चाहे मेरा भाई हो जो गलत करेगा वह सजा पाएगा। अय्यूब ने कहा जब तक वह हमारे साथ था तब तक ऐसा नहीं था। उदयपुर में किसके साथ कनेक्ट हुआ कैसे बदला नहीं पता। इसके बाद से परिवार के लोगों से सम्पर्क भी नहीं किया। घरवालों ने बताया कि रियाज ने किससे शादी की यह भी नहीं पता। वे यह भी दावा कर रहे हैं कि उन्होंने कभी रियाज की पत्नी को नहीं देखा आसींद का रहने वाला है। 20 साल पहले अपना घर छोड़ चुका था। घरवालों को भी नहीं पता था कि उदयपुर में कहां और क्या करता है। कब शादी की। इस बीच रियाज जब्बार ने कब माहौल बिगाड़ने वाला बड़ा नेटवर्क तैयार कर लिया किसी को नहीं पता।उदयपुर रियाज जब्बार पहले भी इस तरह की हरकत कर चुका है। बताया जा रहा है कि जब्बार ने करीब एक साल पहले भी उदयपुर शहर में माहौल खराब करने की कोशिश की थी। उसने पुलिस के खिलाफ लोगों को भड़काया था और एक एएसआई का पुतला भी फूंका था।दोनों आरोपियों ने उदयपुर और भीलवाड़ा के साथ आसपास के कई इलाकों में दंगाइयों का नेटवर्क तैयार कर लिया है। पूरी हिंदू आबादी कन्हैया लाल की हत्या के लिए OIC को जिम्मेदार ठहराती है। ओआईसी खुद को मुसलमानों के रक्षक के रूप में गौरवान्वित करता है, तो उसे उन्हीं मुसलमानों की नृशंसता की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। लोगों की प्रतिक्रियाएं जावेद जी ऐसी बातों से मुखातिब नहीं रहते हैं धर्म के अनुसार इनका कोई नुकसान नहीं हुआ है। दअख्तर साहब अभी अपना बयान लिखने में बिजी हैं। उनके कानों को सेलेक्टिव लोगों को सुनने की आदत हो गई है। आपको अब तक यह पता होना चाहिए था क्योंकि उसके पारिस्थितिकी तंत्र के उनके पास कहने के लिए शब्द नहीं हैंJavedakhtarjadu साहब उदयपुर की घटना के बारे में तो सुना ही होगा ये सब इन्हें ना सुनाई देता है और ना दिखाई देता है। इन्हें सिर्फ हिंदुस्तान की बुराई दिखाईइस वारदात के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। इंटरनेट बन्द कर दिए गए हैं। अगले 24 घण्टे तक इंटरनेट बन्द रहेगा। धानमंडी और घंटाघर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और घटना का जायजा लिया। पुलिस ने शव को एमबी हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवा दिया। घटना के बाद राजनीतिक भी शुरू हो गई है। लेकिन बात यहां कांग्रेस और भाजपा या अन्य किसी दल की नहीं है बल्कि जिस हिम्मत के साथ ऐसी वारदात को अंजाम दिया जा रहा है वह देश के लिए घातक है।19 जून 2022 के मुख्य सामाचार अग्निपथ स्कीम के खिलाफ हिंसा बंद करें सरकार बातचीत के लिये तैयार